छोटी सी भूल भाग - १७

007

Rare Desi.com Administrator
Staff member
Joined
Aug 28, 2013
Messages
68,481
Reaction score
538
Points
113
Age
37
//in.tssensor.ru छोटी सी भूल भाग - १७
वो बोला, चल चूस इसे। मैने अपनी गर्दन ना के इशारे में हिला दी। वो बोला, अरे चुस ना। मैने भी तो तेरी चूत चूसी है। तू तो कहती थी जो मैं चाहूंगा; तू करेगी। कहाँ गया तेरा कल का वादा? उसने मुझे जोर दे कर उठाया और मुझे अपने आगे जमीन पर बिठा दिया। मैने आँख खोली तो पाया कि उसका लिंग बिल्कुल मेरे मुँह के सामने झूल रहा था। बहुत बड़ा लग रहा था वो। उसके चारों तरफ बहुत घने काले बाल थे। पूरा एक जंगल उगा हुआ था वहाँ। मैने ऐसा भयानक लिंग देख कर अपनी आंखे झट से बंद कर ली। वो मेरे होठों पर अपना लिंग रगड़ने लगा, और बोला, मुँह खोल। मैने कोई हरकत नहीं की। वो बोला, खोल ना, थोड़ा चूस ले, तुझे जल्दी जाना है ना। मैने झिझकते हुए मुँह खोला ही था कि, उसने कोई ३ इंच मेरे मुँह में घुसा दिया और बोला, शाबास ये हुई ना बात! मेरा मुँह फटा जा रहा था और वो और ज्याद अन्दर डालने की कोशिश कर रहा था। मुझे उल्टी आने को हो गई और मैं वहाँ से जोर लगा कर हट गई। मैं थोड़ा ठीक महसूस करने लगी ही थी कि उसने फिर से मेरे मुँह में अपना लिंग सटा सिया। वो बोला, चल अब जल्दी-जल्दी चूस, वक्त कम है। मैने धीरे-धीरे उसका चूसना शुरु कर दिया। मैं बहुत ग्लानि की भावना से भरी हुई थी और सोच रही थी कि ये मुझे क्या करना पड़ रहा है। आज तक मैने संजय के साथ भी इस तरह से नहीं किया था। मैं प्रार्थना कर रही थी कि ये सब जल्दी से खत्म हो जाये। थोड़ी देर बाद उसने मुझे घूमने को कहा। मुझे ये सुन कर सुकून मिला उसक चूसते चूसते मेरा मुँह दुखने लगा था। वो बोला, सलवार निकाल दे और घूम जा। मैने कहा कपड़े रहने दो ऐसे ही कर लो। वो बोला, निकाल ना जल्दी, मुझे गुस्सा मत दिला। मैने, धीरे धीरे कपड़े उतार दिये और उसके समने बिल्कुल नंगी हो गई। वो मेरे उभारों को देखते हुए बोला, जरा रूक और मेरे उभारों को चूमने लगा। मैं चुपचाप उसका तमाशा देखती रही। वो बारी-बारी से मेरे निप्पल्स को मुँह में लेकर चूस रहा था, उसकी दाढ़ी मेरे उभारों पर काँटों की तरह चुभ रही थी। थोड़ी देर बाद वो बोला, चल अब घूम जा और झुक जा। मैने पूछा आप क्या करोगे? वो बोला, जो बिल्लू ने किया थ, तेरी गांड मारूंगा। ये सुन कर में ग्लानि से मर सी गई। उसने मुझे झुकाया और मेरे नितम्बों पर अपना लिंग रगड़ने लगा। उसने मुझे फिर अपनी और घुमाया और बोला, चल इसे मुँह में लेकर चिकना कर, डालने में आसानी होगी मैं सब जल्दी खत्म करना चाहति थी, इसलिए मैं नीचे झुक कर उसके लिंग को मुँह में लेकर चूसने लगी। कोई पाँच मिनिट बाद वो बोला, बस ठीक है, वापस घूम जा। जैसे ही मैं उसके आगे झुकी, उसने मेरे उभारों को दोनों हाथों से थाम लिया और उन्हें मसलने लगा। थोड़ी देर बाद मुझे उसका लिंग अपनी योनि द्वार पर मसूस हुआ, मैं डर गई कि कहीं ये यहाँ ना डाल दे। पर वो जल्दी ही वहाँ से हट गया। अचानक उसने मेरे कंधों को जोर से थाम लिया और मैं चीख उठी.. आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह आआआआअय्य्य्य्य्य्य्य्य्य्यिइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइइ. प्लीज निकालो इसे!! उसने एक ही झटके में अपना आधा लिंग मेरी योनि में आधा घुसा दिया था। मैं चिल्ला कर बोली, तुमने गलत जगह डाल दिया है, निकालो वहाँ से। वो बोला, बिल्कुल सही जगह डाला है, बहुत चिकनी चूत है तेरी; लगते ही फिसल गया। थोड़ा रूक, तुझे मजा आने लगेगा। मैं दर्द से मरी जा रही थी। शुक्र है कि वो जबरदस्ती अन्दर नहीं धकेल रहा था। बिल्लू की तरह वो भी धीरे-धीरे अन्दर सरका रहा था। उसक एक एक इंच मेरे अन्दर जाता हुआ महसूस हो रहा था। जब उसने पूरा अन्दर डाल दिया तो बोला, ले चला गया पूरा अन्दर। अब मुझे उसके वहाँ के बाल अपने नितम्बों पर कांटो की तरह चुबते हुए महसूस हो रहे थे। मैं उसके लिंग का कोई अहसास महसूस नहीं करना चाहती थी। पर ये सच था कि उसका लिंग मेरी योनि में बहुत गहराई तक पहुँच गया था, जहाँ तक कि आज तक संजय भी नहीं पहुँच पाये थे। धीरे-धीरे मेरा दर्द कम हो गया। वो बोला, कैसा लग रहा है? मैने कोई जवाब नहीं दिया। वो बोला, बिल्लू ने अपनी डायरी में लिखा था कि तूने खुद उसे गांड मारने को कहा था, क्या ये सच है? मैने कहा, जी नहीं ऐसा कुछ नहीं है। वो बोला, चल कोई बात नहीं, तू मुझे बता, मैं तेरी मार लूं क्या? मैं हैरान थी कि ये सब कुछ बिल्लू की तरह कर रहा है, बिल्कुल उसी तरह कमीना है। मैने कुछ नहीं कहा। मुझे महसूस हुआ कि, वो अपना लिंग बाहर की ओर खींच रहा है। उसका लिंग बाहर की और निकला ही था कि उसने पूरा वापस घुसा दिया और मैं पूरी की पूरी हिल गई। वो बोला, तू कहे या ना कहे मैं तो तेरी मार रहा हूँ, तू तो यूं ही शर्माती रहेगी। ये कहते हुए उसने मेरी योनि में तेज-तेज धक्के मारने शुरू कर दिये। ना चाहते हुए भी मैं हर धक्के के साथ हवा में झूल रही थी। मैं कब सातवें आसमान पर पहुँच गई पता ही नहीं चला। मेरा मन भले ही ग्लानि से भरा हुआ था; पर मैं ये नहीं झुठला सकती थी कि मेरी योनि में मुझे बहुत मजा आ रहा है। उसके लिंग की रगड़ मेरी योनि में बहुत गहराई तक महसूस हो रही थी। अचानक उसने मुझे ऐसी बात कही कि जिसे सुन कर मैं चौंक गई।वो एक जोरदार धक्का अन्दर की ओर लगा कर रुक गया और बोला, तूने जो कुछ मेरे साथ किय था, उसकी ये बहुत छोटी सी सजा है। मैने हैरानी भरे शब्दों में पूछा, क्या मतलब? वो बोला, तूने मुझे बिल्कुल नहीं पहचाना? मैने फिर हैरानी में जवाब दिया, नहीं। वो बोला, याद कर कबी मैं ऐसे ही तेरे पीछे खड़ा था, फर्क इतना था कि मेरा लंड मेरी पेन्ट में था, तेरी चूत में नहीं। तू पानी पी रही थी, मैं तेरे पीछे लाईन में लगा था। मैं हड़बड़ाते हुए बोली. क.क..क्याऽऽऽ ? मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि मैं क्या सुन रही हुँ। मैने जोर लगा कर वहाँ से हटने की कोशिश की पर उसने मेरे कंधों को मजबूती से पकड़ रखा था। वो बोला, कुछ याद आया मैडम? और फिर से तेज-तेज धक्के मारने लगा और मेरी साँस फूल गई। मैने पूछा, क..क..क्या तुम अशोक होऽऽ? वो रुक कर बोला, हाँ बिल्कुल ठीक पहचाना, आप की याददाश्त बहुत अच्छी है। मेरी आंखों के आगे अंधेरा छा गया। मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था के ये सब सच है। मुझे सब एक बुरा सपना सा लग रहा था। पर काश वो सपना होता। वो सपना नहीं; हकीकत थी मेरी योनि में मेरे कॉलेज के दिनों का चपरासी, अशोक लिंग डाले खड़ा था। मैं सोच भी नहीं पा रही थी कि क्या करूं?
 

Users Who Are Viewing This Thread (Users: 0, Guests: 0)

Similar threads


Online porn video at mobile phone


முடங்கிய கணவனுடன் சுவாதியின் வாழ்க்கை 25oodum busil ool pota kathaigalআপু এর ভোদাDidi Ke Chudkkar jethaninewsexstory com tamil sex stories E0 AE 9A E0 AF 82 E0 AE AA E0 AF 8D E0 AE AA E0 AE B0 E0 AF 8D E0kamakathaikalnew com big boobs beggar E0 AE AA E0 AE BF E0 AE 9A E0 AF 8D E0 AE 9A E0 AF 88 E0 AE 95चुदाई की गई जवानी में मेरी चूत की गर्मीமான்சி காமகதைகள்www.আপু গুমিয়ে আছে sex করি আমি Bangla video com.ಅತ್ತಿಗೆ ನಿನ್ನ storyশাড়ি ব্লাউজ ভিজে গেলোఈరోజు కూడా నన్నుదెంగడానికి మీ నాన్న వస్తానన్నాడు .mitrachya ai la ani aji la shetat chodal storyজোর করে ধরে পুদ ফাটানো।3 मुस्टंडों से चुदाईमैना मराठी सेक्सी कथाஅம்மாவும் பால்காரனும்சித்தி மேல படுத்து பால் குடிக்க শাড়ি পড়া বড় বড় পাছার ছবিदीदी की नंगी बुर और मेरा खडा लंड कहानीচটি বাংলা মধুসূদন আহ ওহलवडाচোদে ফালা ফালা করে দে চটিবগল চাটা দিলামஅப்பாவின் கம்பி காம கதைxxx ಕಥೆಗಳುमेरा सेक्सी परिवार पार्ट 5मॉ वोली भैया से चुदकर मजा लेகல்லு முலை கசக்கलङकी मुठ मारने पर क्य छोङते हैഒന്നിനും കൊള്ളാത്ത kambiKaveri koothi kathaikalmeri widow mom kashmira sex storiesচটি বড় আপুதங்கச்சி தோழி புண்டை முலை சூத்துமுடங்கிய கனவருடன் சுவாதிबेटी की गदरायी जाँघेंदीदी चुद गई रंडी की तरहசுகுமாரி xxxচটি গল্প জোর করে তুলে এনে পাছার ফুটোয় চুদলামGoogleଭାଉଜ ଗିହା ଦେଲେ xxx video desiती माझे गोट्या चोखत होतीஅம்மாவும் மகளும் காமகதைभाभी चि चड्डीবা্লা গল্প চটি পড়ার জন্য झवाझवी कथा Oxxx माझा लवडा तिचा पुचितচটি আম্মাXxx khaniy bhau ki mohair bani bangoli choti khineটাইট ভোদার গাদন পর পুরুস চটিதங்கையின் புண்டைக்குள்ளே என் கஞ்சியை பீச்சிthamil peangal paalkudukum vediyo thamilছেলেকে.দিয়ে.চুদেইमुलगी ची पुच्चीभैया बहुत मोटा हैपप्पा झवाझवी कथाblack pukllu sax fornநண்பனின் அம்மாவை ஹாஸ்டல் ரூமில் ஓத்த கதைசித்தி ஜட்டி பிரா காமக்கதைகள்அம்மா பால் பழம் காமবাংলা ভাবির থাড়ানো গুদ ज़हरीन का प्यासा सफ़रsexmonika कहानीகுடும்ப லெஸ்பியன் காமகதைகள்பெரிய மெலெFaadu indiansexचुदक्कड़ भाभीஎன் புருஷன் தேவடியாকাকিরে চুদবি নাকিलहान सालीची संभोग कथाKilavanum nanum sex storyLanja Telugu BDSM storiesNa kasi pellamto sex storees tellugu comகன்னி பொண்ண ஓத்த அனுபவம்sasur ji majbur aurat sex story thread chudai বউকে নিয়ে থ্রীসাম সেক্সமனைவி கூட்டம் காம கதைசுவாதி காமக்கதை பாகம் 1আম্মুকে বাথরুমে ব্রা খুলে দুধ চুষার চটি গল্পआंटी ने सिड्यूस करके गांड दिखायापरीवार की चेादाई कहानीठोकाठोकीகிராம தலைவர் மனைவி காமகதைகள்নতুন assamese sex storiesआंटी ची गांड मारली मराठी स्टोरीমাই দুটো কে তো কাঠাল বানিয়ে রেখেছtan ki chahat me dewar ne